Tehri Garhwalउत्तराखंड

टिहरी : सदस्यों की ये शिकायत पर मंत्री का एक्शन, दिए जांच के निर्देश, पढ़िए क्या रहा बैठक में खास…

Listen to this article

जिला सभागार नई टिहरी में आज मा. मंत्री,  वित्त, शहरी विकास एवं आवास, विधायी एवं संसदीय कार्य, जनगणना तथा पुनर्गठन उत्तराखंड सरकार एवं जनपद प्रभारी मंत्री श्री प्रेम चंद अग्रवाल की अध्यक्षता में जिला योजना समिति वर्ष 2023-24 के परिव्यय एवं कार्ययोजना संबंधी बैठक आयोजित की गई। बैठक में वर्ष 2023-24 हेतु जनपद टिहरी गढ़वाल के विकास के लिए 8814.31 लाख रुपए का परिव्यय एवं कार्ययोजना प्रस्तावित कर अनुमोदित किया गया।

इस मौके पर मा. प्रभारी मंत्री जी ने कहा कि अधिकारी जनपद में संचालित योजनाओं की जानकारी समिति के सदस्यों को भी देना/दिखाना सुनिश्चित करें और सदस्यों का भी दायित्व है कि समय-समय पर इन योजनाओं का निरीक्षण करें। कहा कि जिला योजना के अन्तर्गत परिव्यय मानकानुसार तय होता है और प्राथमिकता के आधार पर योजनाओं को प्रस्तावित किया जाता है, जिस विभाग का काम संतोषजनक नहीं होगा, उसके परिव्यय में कटौती जी जायेगी। सदन में समिति के सदस्यों द्वारा उठाए गये प्रकरणों एवं जिज्ञासाओं का समाधान करने हेतु मा. मंत्री जी ने कहा कि अधिकारी एवं समिति के सदस्य आपस में तिथि तय कर एक बैठक करना सुनिश्चित कर लें।

मा. मंत्री जी ने कहा कि अधिकारी, जनप्रतिनिधि यह ध्यान रखें कि एक योजना पूर्ण होने के बाद ही दूसरी योजना शुरू करें और वही योजनाएं जिला योजना के अन्तर्गत प्रस्तावित करें, जो साकार हो सकें। मा. मंत्री जी ने कहा कि योजनाएं कम हो, किन्तु अच्छी एवं लम्बी चलने वाली हों। कहा कि अब इस्टीमेट लेने के बाद ही धनराशि आवंटित की जा रही है, ताकि बाद में धनराशि की कमी के कारण योजनाएं लम्बित न रहें। कहा कि योजनाओं के अन्तर्गत धनराशि अवमुक्त होने पर तुरन्त कार्य करना शुरू करें। उद्यान विभाग की समीक्षा के दौरान मा. सदस्यों द्वारा दिखोल गांव चम्बा में लगाये गये पॉलीहाउस के पॉलीथीन के संबंध मंे शिकायत की गई, जिस पर मा. मंत्री जी ने सीडीओ को जांच करने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी डॉ. सौरभ गहरवार ने कहा कि जिन विभागों की प्रगति रिपोर्ट धीमी है, उनको निर्देशित किया गया है कि प्रत्येक माह कार्य का विवरण उपलब्ध करायेंगे, जिसकी क्रास चेकिंग की जायेगी, उसके बाद ही धनराशि दी जायेगी। बताया कि जनपद में निराश्रित पशुओं हेतु नगरपालिका एवं नगर पंचायतों में गौशालाएं बनाये जा रहे हैं। इसके साथ ही प्रत्येक ब्लॉक में भी क्षमता वृद्धिनुसार स्थान चिन्ह्ति कर गौशाला विकसित की जायेंगी। बताया कि जनपद में ‘अपणु स्कूल अपणू प्रमाण पत्र‘ के अन्तर्गत 18 हजार प्रमाण पत्र बनाये गये हैं।

मुख्य विकास अधिकारी मनीष कुमार ने बताया कि जिला योजना के अन्तर्गत मानकानुसार विभिन्न योजनाओं के तहत धनराशि प्रस्तावित की गई है। कहा कि ‘एक गांव एक खेत‘ के अन्तर्गत एकीकृत खेती कर पायलट प्रोजेक्ट के रूप में कार्य किये जाने का प्रस्ताव है। इसके साथ ही सतत् विकास लक्ष्य के अन्तर्गत भी थीम वाइज अधिकारी नामित किये गये हैं। रोजगारपरक एवं स्वालम्बी योजनाओं पर कार्य किया जा रहे हैं।

इस मौके पर मा. सदस्यों द्वारा लोक निर्माण विभाग के अन्तर्गत 200-300 मीटर माप वाली सड़कों के निर्माण को जिला योजना में प्रस्तावित करने, सेरा शमसान घाट, कुकुरबागी चम्बा में सिंचाई नगर आदि के प्रस्ताव रखने की बात कही गई।

बैठक में अध्यक्ष जिला पंचायत टिहरी गढ़वाल सोना सजवाण, विधायक टिहरी किशोर उपाध्याय, घनसाली शक्तिलाल शाह, धनोल्टी प्रीतम सिंह पंवार, प्रतापनगर विक्रम सिंह नेगी, अध्यक्ष नगरपालिका टिहरी सीमा कृषाली, ब्लॉक प्रमुख जाखणीधार सुनीता देवी, प्रतापनगर प्रदीप रमोला, भिलंगना वासुमति घणाता, चम्बा शिवानी बिष्ट, जौनपुर सीता रावत, थौलधार प्रभा बिष्ट सहित जिला नियोजन समिति एवं जिला पंचायत सदस्य एवं जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button