उत्तराखंडसामाजिक

जिला पंचायत अध्यक्षा टिहरी की अध्यक्षता में जिला पंचायत विकास योजना(डीपीडीपी) की सामान्य बैठक आयोजित, बैठक में जनप्रतिनिधियों ने दिए ये सुझाव

जिला पंचायत अध्यक्षा टिहरी की अध्यक्षता में जिला पंचायत विकास योजना(डीपीडीपी) की सामान्य बैठक आयोजित, बैठक में जनप्रतिनिधियों ने दिए ये सुझाव

Listen to this article

जिला पंचायत सभागार, बौराड़ी नई टिहरी गढ़वाल में आज मा. जिला पंचायत अध्यक्षा टिहरी गढ़वाल सोना सजवाण की अध्यक्षता में जिला पंचायत विकास योजना(डीपीडीपी) की सामान्य बैठक आयोजित की गई। बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्र की समस्याओं से विभागीय अधिकारियों को अवगत कराया गया तथा समस्याओं के शीघ्र निस्तारण करने की बात कही गई। वहीं बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा कुछ सुझाव भी दिए गए।

बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा क्रमवार सर्वप्रथम मत्स्य विभाग में संचालित योजनाओं के संबंध में जानकारी चाही गई। इस पर मत्स्य निरीक्षक विजय लक्ष्मी नेगी ने विभागीय संचालित योजनाओं की जानकारी दी। बताया कि पर्वतीय क्षेत्रों में मत्स्य पालन तालाब योजना के तहत विभाग द्वारा 50 प्रतिशत धनराशि अनुदान दी जाती है। बताया कि नरेंद्रनगर रौंदेली में 14 तालाब बनाए गए हैं। चयन का आधार प्रथम आओ प्रथम पाओ है, ऑनलाइन या विभाग में आकर आवेदन कर सकते हैं। बताया की वित्तीय वर्ष 2021-22 में जिला योजना में 75 लाख आवंटित हुआ। क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि ने विकास खंड भिलंगना के फलेण्डा में तालाब निर्माण हेतु आवंटित धनराशि के सापेक्ष किए गए कार्यों को दिखवाने की बात कही।

जिला विकास अधिकारी सुनील कुमार ने कहा कि भिलंगना, धनोल्टी और जौनपुर क्षेत्र में ट्राउट फिशिंग से आर्थिकी को मजबूत करने की काफी संभावनाएं हैं। उन्होंने सभी विभागों को लघु सीमांत किसान योजना का लाभ लाभार्थियों को पहुंचाने के लिए मनरेगा से कन्वर्जेशन करने की बात कही।

जिला युवा कल्याण अधिकारी पंकज तिवारी ने बताया कि कोविड के दौरान 300 पी.आर.डी. तैनात किए गए जिन्हें कोरोना वरियर्स के रूप में सम्मानित भी किया गया। बताया की विभाग में वर्तमान में 2 योजनाएं स्वालम्बन योजना तथा संवर्द्धन योजना चल रही हैं, जिसमें महिला एवं युवक मंगल दल आवेदन कर सकते हैं। उरेडा अधिकारी ए.पी. सकलानी ने बताया की इस वर्ष जिला योजना में 59.50 लाख आवंटित हुआ। क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि ने जौनपुर विकास खंड तथा थत्युड़ में सौर लाइट मरम्मत के संबंध में जानकारी चाही गई, इस पर उरेड़ा अधिकारी ने बताया कि प्रस्ताव रखा गया है।

अधिशासी अभियांता विद्युत विभाग अर्जुन प्रताप से क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों द्वारा भिलंगना में विद्युतीकरण, प्रतापनगर में करंट से घायल व्यक्ति, कणाताल एवं जड़ीपानी में ट्रांसफार्मर, चंबा धरांसू के गुल्डी में बिजली के तार झूलने के की समस्या से अवगत कराया गया तथा जल्द ठीक करवाने की बात कही गई। वहीं क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि संदीप बेलवाल ने थत्युड़ में काफी लंबे समय से विद्युतीकरण न किए जाने की बात कही, इस पर जिला पंचायत अध्यक्षा ने संबंधित अधिकारी को प्रकरण पर अब तक की गई कारवाई से अवगत करने को कहा। चिकित्सा विभाग से कांडीसोड़ के अस्पताल में डॉक्टर भेजने, डांडा की बेदी में चिकित्सा सेंटर खोलने, लंबगांव में अल्ट्रासाउंड मशीन की व्यवस्था करने तथा गुनोगी, धारकोट एवं खड़ीखाल में आयुर्वेदिक शिविर लगाए जाने की मांग की गई। वहीं जिला पंचायत अध्यक्षा द्वारा एसीएमओ डॉ. सेमवाल को जिला चिकित्सालय में पोस्टमार्टम संबंधी समस्या का संज्ञान लेते हुए समाधान करवाए जाने को कहा गया। इस अवसर पर ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन परियोजना के तहत जिला मुख्यालय, ऋषिकेश या शिवपुरी मे अस्पताल खोलने का प्रस्ताव राज्य सरकर के माध्यम से भारत सरकार को उपलब्ध कराने का सुझाव दिया गया। डीएफओ टिहरी डिवीजन वी. के. सिंह ने फायर सीजन के चलते सभी जनप्रतिनिधियों से आग लगने की घटनाओ में सहयोग की अपेक्षा की। उन्होंने बताया कि जनपद में 176 फायर क्रू स्टेशन बनाए गए हैं, जिनमें आग बुझाने के उपकरण एवं जन जागरूकता संबंधी पैंपलेट रखे गए हैं। इस अवसर पर आग बुझते मृतक सूरत सिंह कुमाई के परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने तथा सूरत सिंह को शहीद का दर्जा देने का भी प्रस्ताव रखने की मांग की गई। इस मौके पर क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों द्वारा जंगली जानवरो जानवरों से निजात दिलाने की मांग की गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button