उत्तराखंडराजनीति

बड़ी  खबर: भाजपा का दृष्टि पत्र जारी, देखें भाजपा के घोषणा पत्र की मुख्य बातें

केंद्रीय  मंत्री   नितिन   गडकरी  ने  भाजपा का घोषणा  पत्र   कर दिया  है।  भाजपा ने  इसे दृष्टि  पत्र नाम दिया है।   इस दौरान  प्रदेश  अध्यक्ष  मदन कौशिक, पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, तीरथ  सिंह रावत,     घोषणा    पत्र     समिति    के     अध्यक्ष      रमेश  पोखरियाल     निशंक     भी     मौजूद      रहे।        जबकि, मुख्यमंत्री    पुष्कर   सिंह   धामी  खटीमा  से   वर्चुवल  कार्यक्रम में जुडे।

आखिरकार  जनता  का   इंतज़ार    खत्म   करते   हुए वोटिंग से चंद दिन पहले भाजपा ने अपना दृष्टिपत्र जारी  कर   दिया   है।   दृष्टि  पत्र   की   लेटलतीफी  के   पीछे   भारतीय   जनता   पार्टी   ने   ये   तर्क   दिया   कि  जनता के सुझाव शामिल करने को लेकर इतनी देर लगी।   लेकिन   बड़ा    सवाल   ये   है    कि   भाजपा   ने  आखिर    घोषणा   पत्र    को  दृष्टि  पत्र   नाम   ही   क्यों दिया?

इंतज़ार  करते  करते  देवभूमि     की   जनता  के  बीच भाजपा  ने  अपना  दृष्टिपत्र  जारी  कर  ही  दिया  है।  केन्द्रीय    सड़क   एवं    परिवहन  और  राजमार्ग  मंत्री  नितिन गडकरी ने भाजपा  के   दृष्टि  पत्र को  जनता को समर्पित किया। इसमें हर वर्ग को ध्यान में रखा गया है। प्रधानमंत्री मोदी का विज़न भी दृष्टि पत्र में साफ   नज़र     आया।   इस    मौके   पर   सांसद   रमेश  पोखरियाल   निशंक   समेत   पूर्व   मुख्यमंत्री   त्रिवेन्द्र  सिंह रावत, तीरथ  सिंह रावत, टिहरी  सांसद  राज्य लक्ष्मी शाह भी मौजूद रही।

भाजपा के  घोषणा पत्र  की  मुख्य बातें  -उत्तराखंड में शसक्त भू कानून कानून बनाएगी भाजपा. -हिम प्रहरी योजना को किया जाएगा शुरू. -सीमांत क्षेत्र में  बसने  वाले   लोगों  को  मिलेगी  प्रोत्साहन    राशि. -किसान  सम्मान  निधि  के  तहत  6  हजार  सरकार  आने पर देगी प्रदेश सरकार. -6 हजार केंद्र और 6 हजार   प्रदेश   सरकार   उत्तराखंड   में   देगी   भाजपा  सरकार. -गरीब महिलाओं को मिलेंगे प्रदेश में साल भर में 3 सिलेंडर  निःशुल्क.  -बीपीएल परिवार  की महिलाओं    को   मिलेंगे   2    हजार   रुपये    प्रतिमाह. -108    योजना     को    करेंगे    और    शसक्त.    -सचल  चिकित्सा में किया जाएगा  काम. -प्रदेश के  मंदिरों  के  जीर्णाेद्धार    का  किया    जाएगा  काम.  -45   नए पर्यटकों    स्थलों   को    किया   जाएगा     विकसित.    -  साहसिक  और   इको   टूरिज्म बोर्ड का होगा   गठन. -श्रमिकों के लिए  5  लाख तक का बीमा  कवर  की योजना होगी शुरू.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button