देश-विदेश

बड़ी खबर : यहां लग गया लॉकडाउन! दो फेज़ में होगी तालाबंदी

चीन के शंघाई शहर में एक ओमिक्रॉन के कारण बढ़ रहे Covid-19 के प्रकोप को रोकने के लिए एक चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन लगाया जाएगा। चीन अपने देश में 28 मार्च 2022 से लॉकडाउन लगाने जा रहा है। न्यूज एजेंसी एएफपी ने चीन की सरकार के हवाले से कहा है कि शंघाई में सोमवार (28 मार्च) से फेजवाईज लॉकडाउन लगने जा रहा है। इसकी वजह यह है कि चीन में एक बार फिर कोरोनावायरस का संक्रमण तेजी से फैलने लगा है।

शहर के प्रशासन ने रविवार को यह ऐलान किया। सरकार ने कहा कि चीन का सबसे बड़ा शहर सोमवार से शुरू होने वाली मास टेस्टिंग के पांच दिनों के लिए अपने पूर्वी हिस्से को बंद कर देगा। इसके बाद 1 अप्रैल से इसके पश्चिमी हिस्से में इसी तरह का लॉकडाउन शुरू होगा।

हालांकि वैश्विक संदर्भ में हाल के मामलों की संख्या बेहद कम है। वे महामारी के पहले हफ्तों के बाद से चीन में सबसे ज्यादा हैं, जो पहली बार 2019 के अंत में वुहान शहर में सामने आया था। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने रविवार को 4,500 से ज्यादा नए घरेलू मामलों की जानकारी दी, जो पिछले दिन से 1,000 से ज्यादा कम है, लेकिन अभी भी पिछले दो सालों में आमतौर पर देखे जाने वाले दोहरे अंकों की डेली ऊंचाई से कहीं ज्यादा है। देश भर में प्रभावित क्षेत्रों के लाखों निवासियों को शहर भर में लॉकडाउन का शिकार होना पड़ा है।

इसलिए शंघाई शहर में दो बैच में लॉकडाउन लगाया जायेगा और तेजी से कोरोना जांच की जायेगी, ताकि वैश्विक महामारी को नियंत्रित करने की पुख्ता रणनीति बनायी जा सके। शंघाई की सरकार ने अपने आधिकारिक सोशल मीडिया साइट वीचैट (WeChat) पर कहा है कि लॉकडाउन के दौरान पब्लिक ट्रांसपोर्ट का परिचालन पूरी तरह से बंद रहेगा

शंघाई ने अब तक पूर्ण लॉकडाउन से परहेज किया था। अधिकारियों ने कहा कि राष्ट्रीय और वैश्विक दोनों अर्थव्यवस्थाओं की भलाई के लिए पूर्वी चीनी बंदरगाह और वित्तीय केंद्र को चालू रखना अनिवार्य था। कोरोना के हाइब्रिड वेरिएंट चौथी लहर में बढ़ा सकते हैं टेंशन, WHO ने इस बड़े खतरे को लेकर जारी किया अलर्ट लेकिन मामलों की संख्या बढ़ने के साथ, शहर की सरकार ने एक सार्वजनिक नोटिस में कहा कि “महामारी के प्रसार को रोकने, लोगों की सुरक्षा और स्वास्थ्य सुनिश्चित करने के लिए” और संक्रमण के मामलों को जल्द से जल्द जड़ से खत्म करने के लिए दो-फेज का लॉकडाउन लागू किया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button